SBI Gold Loan कैसे ले, आइए जानें पूरी डिटेल्स ?

SBI Gold Loan कैसे ले, आइए जानें पूरी डिटेल्स ?
Source: SBI Bank/Google Image

SBI Gold Loan : भारतीय स्टेट बैंक की गोल्ड लोन योजना के बारे में आज इस आर्टिकल में बात करने वाले है। इससे पहले आपको SBI Gold Loan क्या है इसके बारे में थोड़ी जानकारी दे दे। एसबीआई गोल्ड लोन एक ऐसी योजना है, जिसमे ग्राहक बैंक में अपनी गोल्ड ज्वैलरी को जमा करता है, उसके हिसाब से बैंक लोन के रूप में रुपए देती है और बैंक एसबीआई गोल्ड लोन पर ब्याज (SBI Gold Loan Interest) लेती हैं। इस सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट लगेंगे और क्या करना पड़ेगा इसकी जानकारी हम आपको इस आर्टिकल में देने वाले है।

आज के समय में गोल्ड लोन सबसे अच्छी योजना है, क्योंकि इसमें अन्य सभी लोन योजनाओं मैं से इसमें सबसे कम ब्याज लगता हैं। यह सबसे सुरक्षित लोन है। इसीलिए बैंक इसका रेट ऑफ़ इन्ट्रेस्ट कम रखता है। इस योजना का रुपया आप कही पर भी इस्तेमाल कर सकते है, चाहे आप बिजनेस में उपयोग करें या फिर पर्सनल इस्तेमाल करे।

SBI Gold Loan में कौन कर सकता है अप्लाई?

एसबीआई गोल्ड लोन (SBI Gold Loan) के लिए वह अप्लाई कर सकता है, जिसकी उम्र 18 साल है या फिर उससे ज्यादा है, जो व्यक्ति गोल्ड लोन के लिए आवेदन कर रहा है, उसके पास एसबीआई में एक सेविंग्स अकाउन्ट होना जरूरी है। अगर आपका सेविंग्स अकाउन्ट नहीं है तो आपको सबसे पहले बैंक में एक सेविंग्स अकाउन्ट को खुलना होगा। फिर आप एसबीआई में गोल्ड लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं। गोल्ड लोन लेते वक्त बैंक आपसे इनकम प्रूफ नही लेती है, इसलिए यह योजना सबसे अच्छी है। जो हर किसी की पहली पसंद है।

SBI Gold Loan में कितना मिलता है लोन?

भारतीय स्टेट बैंक अपने ग्राहकों को गोल्ड लोन योजना के तहत कम से कम 20,000 से लेकर मैक्सिमम 50,00,000 तक का लोन देती है। यह रकम आपको गोल्ड की वैल्यू के हिसाब से दी जायेंगे।

एसबीआई बैंक एक ग्राहक को मैक्सिमॅम 3 बार ही गोल्ड लोन को प्रोवाइड कराती है। अगर ग्राहक को 3 से ज्यादा गोल्ड लोन लेनी है, तो सबसे पहले एक गोल्ड लोन (SBI Gold Loan) को बंद कराना पड़ेगा। फिर एक नया गोल्ड लोन अकाउन्ट ओपेन करके उसको रमैनिंग अमाउंट SBI की तरफ से फ़ाईनैन्स की जाती है।

SBI Gold Loan कैसे ले, आइए जानें पूरी डिटेल्स ?
Source: Google Image

SBI Gold Loan Repayment Period

एसबीआई गोल्ड लोन को आप दो तरीके से जमा कर सकते है। जिसमे पहला ईएमआई देकर और दूसरा बुलेट रिपेमेंट देकर जमा कर सकते है। अब हम आपको दोनो का मतलब बता दे।
EMI ka मतलब मंथली EMI यानी की किस्तों में गोल्ड लोन को चुकाना और उसमें मैक्सिमॅम लोन का समय 3 साल का होता है।
बुलेट रिपेमेंट का मतलब आपने गोल्ड लोन ले लिया है, अब आपको बैंक में EMI या ब्याज जमा करने की जरूरत नहीं है। लोन का समय खत्म होने के बाद आपको लोन के रूपये के साथ ब्याज को एक साथ इकट्ठा जमा करना पड़ता है। और फिर आपका गोल्ड लोन क्लोज़ कर दिया जाता है और आपको आपकी गोल्ड ज्वैलरी को वापस दे दिया जाता है।
अगर आप इकट्ठा रुपया जमा न कर पाए तो आपको बुलेट रिपेमेंट में आपको 3 तरीके और मिलते है, जिसमे आपको 3 महीने में रिपेमेट जमा करने का, दूसरा 6 महीने में जमा करने का और तीसरा 12 महीने में जमा करने का ऑप्शन मिलता है।
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया आज के समय में 24 कैरेट गोल्ड के एक ग्राम का 4271 रूपये देती है, अगर आपका गोल्ड का प्यूरिटी 18 कैरेट है और आप बुलेट रीपेमेंट ले रहे है तो आपको लोवेस्ट पर ग्राम रेट के हिसाब से ही आपको गोल्ड लोन दिया जाएगा।
एसबीआई गोल्ड लोन लेने का एक सबसे अच्छा फायदा यह भी है, की इसे लेने के लिए आपको कोई भी फीस और कोई भी पेनल्टी या फोरक्लोजर चार्जीस नहीं लगते है। आप गोल्ड लोन लेने के बाद जब चाहे तब आप लोन को क्लोज़ करा सकते हैं, जो अन्य लोन के हिसाब से बहुत अच्छा है।

SBI Gold Loan लेने पर कौन कौन से चार्ज लगते है?

भारतीय स्टेट बैंक गोल्ड लोन पर केवल दो तरह के चार्ज को लेती हैं, जो एक है प्रोसेसिंग फीस और दूसरा अपरैसल चार्ज हैं।

एसबीआई गोल्ड लोन प्रोसेसिंग फीस

अगर आप एसबीआई से गोल्ड लोन को ईएमआई ऑप्शन में ले रहे है, तो आपको लोन अमाउंट का 0.50 प्रतिशत के साथ जीएसटी मिलाकर प्रोसेसिंग फीस देनी होगी। यह फीस 590 रूपये से शुरू होकर मैक्सिमम 11,180 रूपये तक होती है।

अगर आप बुलेट रीपेमेंट पर गोल्ड लोन लेते है, तो आपको 3 महीने के लिए 200 रूपये के साथ जीएसटी और प्रोसेसिंग फीस देना पड़ेगा।
अगर आप बुलेट रिपेमेंट में 6 महीने के लिए लोन लेते है तो 300 रूपये के साथ जीएसटी और प्रोसेसिंग फीस देने पड़ेगी।
अगर आप बुलेट रीपेमेंट में लोन को 12 महीने के लिए लेते हो तो आपको लोन अमाउंट के 0.50% के साथ आपको जीएसटी देने पडेंगी। इसका प्रोसेसिंग फीस मिनिमम 500 प्लस जीएसटी और मैक्सीमम 10,000 प्लस जीएसटी होता है।

एसबीआई गोल्ड लोन अपरैसल चार्जेस

अपरैसल चार्जेस की बात करे तो एसबीआई बैंक में Empanelled Appraiser होता है जो आपकी गोल्ड ज्वेलरी की प्युरिटी को चेक करता है, उसके लिए आपको बैंक को एक एक्स्ट्रा फीस को देना पड़ता है।

SBI Gold Loan लेने कौन कौन से डॉक्युमेंट्स चाहिए?

एसबीआई गोल्ड लोन लेंने के लिए आपको बैंक में आपको 2 अपनी पासपोर्ट साइज फोटो देना पड़ता है, उसके बाद आपकी KYC यानि की आधार कार्ड और पान कार्ड की फोटो काफी और गोल्ड लोन का फॉर्म को भरने के बाद आपको बैंक में जमा करना पड़ता है। अगर आपको लिखना और पढ़ना नहीं आता है, तो आपको विटनेस फॉर्म को भी भरना पड़ेगा।

SBI Gold Loan ब्याज रेट

अगर आप ईएमआई ऑप्शन में गोल्ड लोन (SBI Gold Loan) ले रहे है, तो इसमें ब्याज थोड़ा ज्यादा लगता है। इसमे 9.60% रेट से ब्याज लगता है और अगर आप बुलेट रीपेमेंट लोन लेते है तो इसमे आपको अगर 12 महीने के लिए लेते है तो 8.85%, अगर आप 6 महीने के लिए लेते है तो 8.80%, अगर आप 3 महीने के लिए लेते हो तो 8.75% रेट से ब्याज लगता है।

एसबीआई गोल्ड लोन का ब्याज दरें समय समय पर बदलती रहती है। अगर आप गोल्ड लोन लेने का मन बना लिया है, तो आपको भारतीय स्टेट बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट https://sbi.co.in/web/personal-banking/loans/gold-loan/personal-gold-loans पर जाकर एक बार ताजा रेट चेक कर ले।

एसबीआई गोल्ड लोन पर ब्याज कितना लगता है?

एसबीआई गोल्ड लोन ब्याज दर 8.75% प्रति वर्ष है।

10 ग्राम सोने पर कितना लोन मिल सकता है?

10 सोने पर आपको 50000 रूपये तक का लोन मिल सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top